Welcome!   Login महादेव : तूने मुझे बनाया है, तू ही मुझे संभालेगा| - CHALK-N-SLATE
Apr 16, 2017
179 Views
0 0

महादेव : तूने मुझे बनाया है, तू ही मुझे संभालेगा|

Written by

मैं नहीं जानता…

हे मेरे महादेव! मुझे कुछ नहीं पता की मैं कहाँ जा रहा हूँ,
मेरी आँखें मेरे आगे के रास्तों को भी नहीं देख पा रहीं|
मैं नहीं जान सकता की यह कहाँ पर जाकर खत्म होगा|
मैं स्वयं को भी नहीं जान सका,
और यह एक तथ्य है प्रभु की मैं सोचता हूँ की मैं तेरी मर्ज़ी के पीछे चल रहा हूँ

पर इसका यह मतलब नहीं है की मैं तेरी मर्ज़ी को पूरा कर पा रहा हूँ|
पर मैं यह विश्वास करता हूँ की मेरी, तुझे प्रसन्न करने की चाह भी तुझे प्रसन्न कर देती है मेरे ईश्वर|

और मैं यह आशा रखता हूँ की एक दिन आएगा की तू मेरे कर्मों से प्रसन्न होगा|

इस उम्मीद में मैं जी रहा हूँ की उस इच्छा के अलावा मैं और कुछ नहीं करूँगा|
मुझ्रे विश्वास है की यदि मैं ऐसा करूंगा तो तू मुझे हमेशा अपनी रौशनी दिखायेगा|
तू मेरे आगे आगे चलेगा और मुझे अपने सत्य और कर्म की परिभाषा पूर्णता से सिखाएगा|
जिस राह पर तेरे पीछे मैं हो लूँगा वह राह चाहे कितनी भी कठिन क्यों न हो, तू मुझे कभी भटकने न देगा|
हार नहीं मानूंगा मैं क्यों की तू मेरे स्वामी मुझे थकने न देगा|
भले मैं नहीं जनता की मैं कौन हूँ और कहाँ जा रहा हूँ?
लेकिन तू मुझे रास्ता दिखायेगा|
तूने मुझे तबसे चलाया है जब मैं खड़ा भी नहीं हो सकता था|
तेरी आवाज़ तब भी सुन पता था, जब मैं बोल नहीं सकता था|
देखा है मैंने लोगों को आंसू बहते हुए, जब वे तेरे सामने घुटनों पे होते हैं|
यह सोचता हूँ मैं कि इतने आंसुओं के बोझ से तेरा हृदय कितना भारी हो जाता होगा|

खाली हूँ भर दे मुझको..
ऐसा कुछ नहीं मुझ में जिसका अब मोह हो मुझे,
खाली कर दे मुझे हे महादेव! और भर दे मुझे अपनी ज्योति से.
मैं तेरे लिए इस संसार का बोझ उठाऊंगा|
मैं डरूंगा नहीं क्योंकि तू मुझे कभी इस कठिन जिम्मेदारी को अकेले नहीं उठाने देगा|
तूने मुझे बनाया है, तू ही मुझे संभालेगा|

Rating: 5.00. From 1 vote.
Please wait...
Article Categories:
अन्य